भारत जोड़ो यात्रा हिट या फ्लॉप, यहां जनें कैसा रहा कांग्रेस का सफर

भारत जोड़ो यात्रा, हिट या फ्लॉप, कांग्रेस का सफर, लोकसभा सीट, राहुल गांधी, इंडियन एक्सप्रेस, Bharat Jodo Yatra, Hit or Flop, Congress Journey, Lok Sabha Seat, Rahul Gandhi, Indian Express,

नई दिल्ली। वायनाड और रायबरेली से अपनी लोकसभा सीट जीतने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चुनाव से पहले दो विशाल ‘भारत जोड़ो’ यात्रा को अंजाम दिया था। अब जब लोकसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं तो ऐसा लग रहा है कि उनकी यह यात्रा सफल ही रही। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल गांधी ने जिन लोकसभा सीटों से अपनी यात्रा के दौरान गुजरे, उनमें से 41 सीटों पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के सहयोगी दल जीतने में कामयाब रहे है। आइए एक नजर डालते हैं राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो’ यात्रा की परफॉर्मेंस पर…

उत्तर प्रदेश

‘भारत जोड़ो’ यात्रा उत्तर प्रदेश के 20 से ज्यादा लोकसभा सीटों से होकर गुजरीं। इस दौरान, कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (सपा) ने उत्तर प्रदेश में सीट बंटवारे को लेकर अपने गतिरोध को खत्म कर लिया था और गठबंधन कर लिया। इसके बाद, इस साल 25 फरवरी को आगरा में यात्रा के उत्तर प्रदेश चरण के दौरान सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी राहुल गांधी के साथ उनकी यात्रा में शामिल हुए थे। खास बात यह है कि कांग्रेस ने इन मार्गों में तीन सीटें जीतीं, जबकि सपा ने छह सीटें जीतीं।

दिल्ली

कांग्रेस या उसके सहयोगी दलों को दिल्ली में भी कोई सीट नहीं मिली। राहुल गांधी की यात्रा में शामिल पांच सीटों में से दो पर कांग्रेस ने चुनाव लड़ा और बाकी तीन पर आप ने चुनाव लड़ा। हालांकि, भाजपा ने सभी पांच सीटें जीत लीं।

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में कांग्रेस और उसके महा विकास अघाड़ी (एमवीए) गठबंधन ने उन क्षेत्रों में नौ सीटें जीतीं, जहां से राहुल गांधी की यात्रा गुजरी। दूसरी ‘भारत जोड़ो न्याय’ यात्रा के दौरान, महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे, वरिष्ठ कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल, महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले, मुंबई पार्टी प्रमुख भाई जगताप, नसीम खान, विश्वजीत कदम और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता सुप्रिया सुले और जितेंद्र अव्हाद गांधी के साथ शामिल हुए थे।

पूर्वोत्तर राज्य

राहुल गांधी की अगुआई में ‘भारत जोड़ो न्याय’ यात्रा 14 जनवरी को मणिपुर से शुरू हुई थी। बड़े पैमाने पर हिंसा के बाद यह राज्य काफी अहम रहा, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड से होते हुए 11 निर्वाचन क्षेत्रों से राहुल गांधी की यात्रा गुजरी। इस दौरान कांग्रेस ने छह सीटें जीतीं।

जम्मू और कश्मीर

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में अपनी पहली यात्रा में चार सीटों पर प्रचार किया, जिनमें से पार्टी की सहयोगी नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) ने दो सीटें जीतीं। इंडिया गठबंधन को बाकी दो सीटों पर हार का सामना करना पड़ा।

दक्षिण भारत

कांग्रेस ने अपनी पहली ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के दौरान कर्नाटक की सात सीटों को कवर किया। इनमें से, कांग्रेस ने तीन सीटें जीतीं। वहीं राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो’ यात्रा केरल 11 निर्वाचन क्षेत्रों गुजरी उनमें से सात सीटों पर उसे जीत हासिल हुई। तमिलनाडु में ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के तहत जिन दो सीटों पर चुनाव हुए, उनमें से एक पर कांग्रेस ने जीत हासिल की, जबकि दूसरी सीट उसकी सहयोगी डीएमके ने जीती। तेलंगाना में कांग्रेस जिन सात निर्वाचन क्षेत्रों से होकर गुजरी उनमें से केवल एक पर ही उसे जीत मिली। वहीं कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश में दो सीटों पर चुनाव लड़ा। हालांकि, पार्टी दोनों सीटें जीतने में विफल रही।

मध्य प्रदेश और क्षत्तीसगढ़

देश की सबसे पुरानी पार्टी मध्य प्रदेश में कोई भी सीट जीतने में सफल नहीं हो सकी, क्योंकि भाजपा ने सभी सीटें जीत लीं। छत्तीसगढ़ में ‘भारत जोड़ो न्याय’ यात्रा में शामिल चार निर्वाचन क्षेत्रों में से कांग्रेस को केवल एक सीट पर जीत मिली।

पंजाब और हरियाणा

कांग्रेस ने ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के दौरान पंजाब की छह सीटों पर चुनाव लड़ा था। इनमें से कांग्रेस ने पांच सीटें जीतीं, जबकि इंडिया गुट के घटक दल आप ने एक सीट जीती। हरियाणा में जिन पांच सीटों से कांग्रेस की यात्रा गुजरी, उनमें से एक पर कांग्रेस ने जीत हासिल की, जबकि बाकी सीटें भाजपा ने जीतीं।

गुजरात और राजस्थान

राजस्थान के सात निर्वाचन क्षेत्रों में आयोजित पार्टी की विशाल रैलियों के बाद पार्टी ने राज्य में चार सीटें जीतीं। जिन लोकसभा क्षेत्रों से ‘भारत जोड़ो’ यात्रा गुजरात में गुजरी वहां कांग्रेस ने पांच सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन एक भी सीट नहीं जीत पाई। सभी सीटें भाजपा ने जीतीं।

पश्चिम बंगाल

कांग्रेस ने अपनी ‘भारत जोड़ो न्याय’ यात्रा के दौरान पश्चिम बंगाल की नौ सीटों पर चुनाव लड़ा। इनमें से कांग्रेस को सिर्फ एक सीट पर जीत मिली। हालांकि, उसकी सहयोगी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने पांच सीटें जीतीं।

बिहार और झारखंड

झारखंड में कांग्रेस ने ‘भारत जोड़ो’ यात्रा में शामिल सात सीटों में से चार पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से वह केवल एक सीट जीतने में सफल रही। राहुल गांधी की दूसरी यात्रा बिहार की सात सीटों पर पहुंची। इनमें से कांग्रेस ने तीन सीटों पर चुनाव लड़ा और सभी पर जीत हासिल की। ​​वहीं, उसके विपक्षी सहयोगियों ने दो सीटें जीतीं।

उल्लेखनीय है कि गांधी ने सितंबर 2022 से जनवरी 2023 तक पहली ‘भारत जोड़ो’ यात्रा की – जो कन्याकुमारी से शुरू होकर कश्मीर में समाप्त हुई और 71 लोकसभा क्षेत्रों से गुज़री। दूसरी ‘भारत जोड़ो न्याय’ यात्रा 14 जनवरी 2024 को मणिपुर के थौबल जिले से शुरू हुई और 16 मार्च 2024 को मुंबई में समाप्त हुई। रैली ने 100 लोकसभा क्षेत्रों, 337 विधानसभा क्षेत्रों और 110 जिलों को कवर करते हुए 6,713 किलोमीटर की दूरी तय की।

Related posts