तिहाड़ जाने से पहले अरविंद केजरीवाल, AAP नेताओं के साथ किया मंथन, जानें क्या दिया संदेश

Remove term: तिहाड़ जेल तिहाड़ जेलRemove term: अरविंद केजरीवाल अरविंद केजरीवालRemove term: AAP AAPRemove term: आम आदमी पार्टी आम आदमी पार्टीRemove term: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवालRemove term: सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम कोर्टRemove term: चुनाव प्रचार चुनाव प्रचारRemove term: अंतरिम जमानत अंतरिम जमानतRemove term: महात्मा गांधी के स्मारक महात्मा गांधी के स्मारकRemove term: आबकारी नीति घोटाला आबकारी नीति घोटालाRemove term: सीबीआई-ईडी अदालत सीबीआई-ईडी अदालतRemove term: उच्चतम न्यायालय उच्चतम न्यायालयRemove term: पत्नी सुनीता केजरीवाल पत्नी सुनीता केजरीवाल

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज वापस तिहाड़ जेल जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें चुनाव प्रचार के लिए तीन हफ्ते की अंतरिम जमानत दी थी, जो शनिवार को लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग पूरी होने के साथ ही खत्म हो गई। सीएम केजरीवाल ने किसी गंभीर बीमारी का शक जताते हुए अदालत से मेडिकल ग्राउंड पर अंतरिम जमानत बढ़ाने की मांग की थी, हालांकि कोर्ट ने उनकी याचिका पर अपना आदेश 5 जून तक के लिए टाल दिया। आम आदमी पार्टी (AAP) के सूत्रों ने शनिवार को कहा कि मुख्यमंत्री 2 जून को शाम करीब तीन बजे तिहाड़ जेल जाने से पहले राजघाट स्थित महात्मा गांधी के स्मारक, डीडीयू मार्ग पर पार्टी कार्यालय और एक मंदिर का दौरा कर सकते हैं।

​पार्टी नेताओं के बीच एकता बनाए रखने की जरूरत है अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल ने अपने निर्धारित आत्मसमर्पण से एक दिन पहले शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के घर पर ‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक में भाग लेने से पहले अपने आवास पर आप की राजनीतिक मामलों की समिति की बैठक की इस बैठक में कैबिनेट मंत्री आतिशी, राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा और संजय सिंह तथा विधायक दुर्गेश पाठक सहित प्रमुख आप नेताओं ने भाग लिया। सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अपनी गैरहाजिरी में पार्टी नेताओं के बीच एकता बनाए रखने की जरूरत पर जोर दिया। सूत्रों ने कहा कि इस बात पर भी जोर दिया गया कि केजरीवाल मुख्यमंत्री बने रहेंगे और उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल पार्टी नेताओं, स्वयंसेवकों और दिल्ली के लोगों को अपना संदेश देना जारी रखेंगी।

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव प्रचार के लिए दी थी राहत

सीएम केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से 10 मई को दी गई अंतरिम जमानत पर 1 जून तक के लिए जेल से रिहा किया गया था। केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि वह जेल अधिकारियों के सामने आत्मसमर्पण करने के लिए दो जून को अपराह्न तीन बजे के आसपास घर से निकलेंगे।

अंतरिम जमानत को सात दिन के लिए बढ़ाने के लिए की मांग

मुख्यमंत्री ने पहले कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में दी गई अंतरिम जमानत को सात दिन के लिए बढ़ाने की मांग करते हुए उच्चतम न्यायालय का रुख किया था। हालांकि, शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री ने बुधवार को उनकी याचिका को तत्काल सूचीबद्ध करने से इनकार कर दिया। इस याचिका में केजरीवाल ने गुहार लगाई थी कि उन्हें मेडिकल टेस्ट कराने के लिए समय चाहिए क्योंकि उनका वजन कम हो रहा है और कीटोन का स्तर उच्च है। इसके बाद उन्होंने मेडिकल ग्राउंड पर अंतरिम जमानत की मांग करते हुए विशेष सीबीआई-ईडी अदालत का रुख किया। शनिवार को उनकी याचिका पर सुनवाई करते हुए विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा की अदालत ने अपना आदेश पांच जून के लिए सुरक्षित रख लिया।

 

Related posts