जाने क्या है? हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, ऐसे करें आवेदन

High Security Registration Plate

जानिए, क्या है हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट अथवा हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट? HSRP ऑनलाइन अप्लाई कैसेकरें? HSRP/HSNP की कीमत क्या है? और इसके न होने पर कितनी राशि दण्ड स्वरुप भुगतान करनी होगी?

HSRP का अर्थ है हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट, इसे HSNP नाम से भी जाना जाता है, जिसका अर्थ है हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट। HSRP या HSNP अपने आप में केंद्रीय सड़क परिवहन व् राजमार्ग मंत्रालय द्वारा निर्धारित एक मानकीकृत नंबर प्लेट है जो पुरे देश में आवश्यक हो चुकी है। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट को अनिवार्य करने के पीछे यह तर्क है की इस तरह की नंबर प्लेट से वाहन की सुरक्षा बढ़ जाती है और वाहन चोरी की घटनाओं पर लगाम लगेगी। क्योंकि यह केवल सरकार द्वारा अधिकृत एजेंटों द्वारा ही जारी की जाएगी।

एक बार वाहन पर लगने के बाद यह हटाई नहीं जा सकती। यदि कोई जोर जबरदस्ती कर उतारने की कोशिश करेगा तो यह नंबर प्लेट डैमेज हो जाएगी और दोबारा नहीं लग सकेगी। नयी प्लेट लेने के लिए फिर से एजेंट के पास गाड़ी के कागज़ात लेकर जाना होगा। एक सुरक्षित रजिस्ट्रेशन प्लेट का नया सिस्टम सरकारी विभागों, जैसे ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग को भी गाड़ियों की पहचान और ट्रेसिंग करने में सहायक सिद्ध होगा।

हिंदी में HSRP का संक्षिप्त विष्लेषण

भारत में HSRP की अनिवार्यता सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल 1989 के नियम 50 और HSRP Order ऑफ़ 2001 के अंतर्गत है। समय समय पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट को लागु करने के प्रयास किये जाते रहे हैं, परन्तु वाहनों की संख्या और अन्य पेचीदगियों के चलते यह टलता रहा। यूँ तो वर्ष 2012 से ही नए वाहनों पर HSNP खरीद के समय ही लगाई जाने लगी हैं। फिर भी किन्ही कारणों से प्लेट टूट जाने पर लोग सामान्य प्लेट लगवाते रहे। पर भविष्य में केवल और केवल हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेटों को ही वैध मन जायेगा।

पर वर्ष 2019 में 1 अप्रैल से केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने इसको लागु करने के प्रयास अधिक तेज़ कर दिए हैं और अब दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश में अक्टूबर 2020 से इसे सभी नए और पुराने वाहनों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।

HSRP नंबर प्लेट की विशेषता

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट 1.0 MM मोटाई की एल्युमीनियम धातु से बनी होती है , इसमें होलोग्राम तथा एक लेज़र कोडेड सीरियल नंबर भी होता है जो अपने आप में अनूठा होता है।

प्लेट की बाईं तरफ नील रंग से “IND” शब्द टंकित रहता है, जहाँ तक हमारा अनुमान है यह देश के अंग्रेजी नाम इंडिया का कोड वर्ड है।

इसके अलावा चक्र आकार का एक Hologram भी इस प्लेट पर बना रहता है। HSNP को वाहन पर लगाने के लिए स्नैप लॉक तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके तहत बाहर से अंदर की तरफ रिब्बेट लगाई जाती हैं जिनके लगने के बाद यह प्लेट आपके कार या बाइक पर परमानेंट रूप से फिक्स हो जाती है।

नंबर प्लेट के साथ साथ आपकी गाडी की विंडशील्ड पर एक कलर कोडेड स्टीकर भी लगाया जाता है। जिसका रंग गाड़ी के ईंधन के हिसाब से तय होता है। पेट्रोल आधारित वाहनों के लिए नीला रंग रखा गया है।

High Security Registration Plate के लाभ

निम्न बिंदुओं में हमने HSNP को लागु करने के कारण और इससे जुड़े कुछ लाभों को सूचीबद्ध किया है:

  • हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की अनिवार्यता के बाद देश के सभी वाहनों की नंबर प्लेटों का मानक तय हो जायेगा।
  • इस प्रकार की प्लेटों से वाहन चोरी और अपराध में वाहनों के इस्तेमाल की घटनाओं में कमी आने की उम्मीद है।
  • चोरी की गई गाड़ियों को आसानी से बेचा नहीं जा सकेगा।
  • HSNP द्वारा वाहनों का एक डेटाबेस तैयार होगा जिससे दुर्घटना, चोरी या अन्य अपराध की सूरत में ट्रैफिक प्रबंधन एजेंसियों द्वारा गाड़ी के मालिक की पहचान आसानी से हो सकेगी।

HSRP Online Apply – हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बनाने के लिए सभी राज्यों के ऑनलाइन पोर्टल

आइये जानते हैं की हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट कैसे लगाएं?

निम्न तालिका में हमने राज्य्वार हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बनाने के उपलब्ध ऑनलाइन पोर्टल को सूचीबद्ध किया है, आप अपने राज्य का नाम देखे और उसके सामने वाले कॉलम में दिए गए लिंक पर क्लिक कर अपनी नंबर प्लेट ऑनलाइन अप्लाई करने की कारवाही शुरू करें।

State wise हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ऑनलाइन आवेदन लिंक टेबल
State wise हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ऑनलाइन आवेदन लिंक टेबल

HSRP से जुड़े कुछ सवाल और जवाब

हमारे पाठकों द्वारा अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न और उत्तर निचे दिए गए हैं, आपकी सुविधा के लिए हमने इन्हे एक जगह संकलित किया है। इनके अलावा भी कोई सवाल हो तो आप उसको कमेंट सेक्शन में लिख कर पूछ सकते हैं।

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए ऑनलाइन अप्लाई (आवेदन) कैसे करें?

आपको उपरोक्त टेबल में दिए लिंक देखने होंगे और अपने राज्य के हिसाब से लिंक खोलना होगा. ऊपर हमने राज्य्वार लिंक साझा किये हैं। हम इस तालिका को नियमित रूप से अपडेट भी करते रहेंगे।

ऑनलाइन HSRP की क्या कीमत है?

ऑनलाइन हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की कीमत 400 से लेकर 1100 रूपये तक रखी गई है. बाइक में लिए 400 से शुरू होकर महँगी और बड़ी गाड़ियों के लिए यह राशि 1100 रूपये तक वसूली जाती है.

क्या HSRP लगवाते समय गाड़ी मालिक की उपस्थिति जरुरी है?

जी नहीं, ऐसी कोई आवश्यकता नहीं है।

HSRP न होने की सूरत में ट्रैफिक पुलिस द्वारा कितने रूपये का चालान काटा जा सकता है?

प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली में चालान की राशि 5000 से 10000 रूपये तक निर्धारित की गई है.

क्या HSRP बाइक और प्राइवेट कारों के लिए भी जरुरी है?

जी हाँ, हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट सभी प्रकार के वाहनों के लिए आवश्यक है।

आशा करते हैं की आपको हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट्स की उपरोक्त जानकारी पसंद आई होगी। धीरे धीरे हम अन्य राज्यों की ऑनलाइन नंबर प्लेट सुविधा की जानकारी भी यहाँ जोड़ते रहेंगे। पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, बिहार, झारखण्ड, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और अन्य राज्यों की ऑनलाइन HSRP अप्लाई सुविधा के लिंक यहाँ संग्रहित हैं। धीरे-धीरे अन्य राज्यों की जानकारी भी यहाँ जोड़ी जाती रहेगी।

Related posts