शुरू हो गया है बारिश का मौसम, पिएं ये हर्बल ड्रिंक!

बारिश का मौसम, पिएं ये हर्बल ड्रिंक, हर्बल चाय,

गर्मी का मौसम, जिसने लंबे समय से लोगों को परेशान कर रखा था, अब जा चुका है। अब वरुणदेव सर्वत्र वर्षा कर रहे हैं। इस बदले माहौल में कई लोग अपना होश खो सकते हैं। देखने में भले ही कितनी भी मुश्किल लगे, लेकिन बारिश के मौसम में हल्की-फुल्की सर्दी-खांसी आ ही जाती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसे संक्रमण के समूह में जोड़ते हैं।

ऐसा कहा जाता है कि हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होना चाहिए ताकि इस तरह से संक्रमण न हो। हमें रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए प्राकृतिक और शक्तिशाली स्वस्थ जड़ी-बूटियों का सेवन करना चाहिए। यह लेख ऐसे अद्भुत हर्बल पेय के बारे में बताता है।

हर्बल चाय

हर्बल चाय
हर्बल चाय
  • मानसून के दौरान खुद को स्वस्थ रखने के लिए किसी भी तरह की स्वास्थ्यवर्धक हर्बल चाय पीने में कोई बुराई नहीं है। बारिश के मौसम में पुदीना, कैमोमाइल, एल्डर बेरी, इचिनेशिया को मिलाकर बनाई गई चाय भी सेहत के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है।
  • विशेष रूप से एल्डरबेरी और इचिनेसिया में हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने की क्षमता होती है। इसी तरह पुदीना और कैमोमाइल में हमारे शरीर और दिमाग को आराम देने वाले गुण होते हैं।
  • गुनगुनी हर्बल चाय हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। साथ ही यह हमारे शरीर में पानी की मात्रा को बनाए रखता है और डिहाइड्रेशन से बचाता है।

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध
हल्दी वाला दूध
  • बारिश के मौसम में दूध में हल्दी मिलाकर पीना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। क्योंकि यह एक जड़ी बूटी है जिसमें शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं।
  • दूध में हल्दी पाउडर मिलाकर उसमें थोड़ा घी मिलाना बहुत अच्छा होता है।
  • यह हमारे पाचन को बेहतर बनाता है और हमारे शरीर में सूजन को कम करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। रात को सोने से पहले एक कप दूध में हल्दी पाउडर मिलाकर पीने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी।

गर्म नींबू और अदरक का पेय

गर्म नींबू और अदरक का पेय
गर्म नींबू और अदरक का पेय
  • गर्म नींबू और अदरक की चाय बरसात के मौसम के लिए एक शक्तिशाली स्वस्थ पेय है और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देती है। क्योंकि नींबू में विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है।
  • इसी तरह अदरक में भी भरपूर मात्रा में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं।
  • यह हमें बरसात के मौसम में किसी भी तरह के संक्रमण से बचाता है और सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार से बचाता है। इसलिए इन दोनों को गुनगुने पानी में मिला लें।

हरी स्मूदी

हरी स्मूदी
हरी स्मूदी
  • एक हरी स्मूदी जो आपके शरीर के पोषक तत्वों के स्तर को बढ़ाती है, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए अनुकूल रूप से काम करती है। क्योंकि इसमें स्वास्थ्यवर्धक फल और हरी पत्तेदार सब्जियाँ होती हैं। यह स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि इसमें खनिज, लौह तत्व और मैग्नीशियम होता है।
  • इसमें मुख्य रूप से पालक, केल और अन्य हरी सब्जियां शामिल होती हैं, जिससे हमारे शरीर को विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन ई मिलता है। यह स्वादिष्ट पोषक तत्वों से भरपूर एक स्वस्थ पेय है और जामुन, केला और नींबू का मिश्रण अत्यधिक स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकता है।
  • चाहें तो ताज़ा पानी या बादाम का दूध भी मिला सकते हैं। हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और बारिश के मौसम में होने वाले विभिन्न प्रकार के संक्रमणों से खुद को बचाने के लिए इस प्रकार के पेय पीना बहुत आवश्यक है।

आंवले का रस

आंवले का रस
आंवले का रस
  • आँवला एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी से भरपूर होता है। इम्युनिटी बढ़ाने वाले गुणों के कारण आंवले को आयुर्वेदिक उपचार कहा जा सकता है।
  • बरसात के मौसम में आंवले का जूस पीने से न केवल हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है बल्कि यह स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने वाले किसी भी तरह के संक्रमण को हमारे करीब आने से भी रोकता है।
  • इससे हमारा स्वास्थ्य बहुत अच्छा रहता है। आप घर पर आसानी से आंवले का जूस तैयार कर सकते हैं। दुकानों में भी उपलब्ध है।
    अगर आप इसे खुद बना रहे हैं तो इसे ताजा पानी और थोड़ा शहद के साथ मिलाएं। पोषण विशेषज्ञ डॉ। का कहना है कि यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए एक अद्भुत पेय है। नीलम चौहान का कहना है।

Related posts