प.बंगाल में चुनावी हिंसा: EVM तालाब में फेंकी, जाधवपुर में देसी बम से किया हमला

Remove term: प.बंगाल में चुनावी हिंसा प.बंगाल में चुनावी हिंसाRemove term: जाधवपुर में देसी बम से किया हमला जाधवपुर में देसी बम से किया हमलाRemove term: EVM तालाब में फेंकी EVM तालाब में फेंकी

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के तहत आज देशभर के कई राज्यों में वोटिंग हो रही है। वोटिंग के दौरान पश्चिम बंगाल में एक बार फिर से हिंसा देखने को मिल रही है। दक्षिण 24 परगना के कुलतली में EVM और VVPAT मशीन को पानी में फेंके की ख़बर सामने आई है। भीड़ ने EVM और VVPAT को पानी में फेंका दिया, यह घटना कुलतली के बूथ नंबर 40, 41 की है। सातवें चरण के चुनाव के दौरान हुई हिंसा में पोलेरहाट में ISF, CPIM के कई समर्थक घायल हैं। इस हमले का आरोप तृणमूल समर्थकों पर लगाया जा रहा है। हमले में देसी बम के इस्तेमाल की भी खबर आ रही है। फिलहाल स्थिति से निपटने के लिए पोलेरहाट थाने के पुलिसकर्मी मौके पर मौजूद हैं।

भीड़ के पीछे दौड़े पुलिस वाले, कई लोग तालाब में कूदे

सोशल मीडिया पर चुनाव हिंसा का जो वीडियो सामने आया है, उसमें भीड़ के पीछे कुछ पुलिस वाले दौड़ते नजर आ रहे हैं। इसी दौरान कुछ लोग पास ही बने तालाब में कूद गए, पुलिस वाले हाथ में लाठी लेकर भीड़ के पीछे भाग रहे हैं। संदेशखाली और भांगर सहित कई इलाकों से चुनावी हिंसा की खबरें भी मिल रही हैं। बसीरहाट लोकसभा क्षेत्र में पड़ने वाले संदेशखाली में शुक्रवार रात शुरू हुई हिंसा आज सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के बाद भी जारी थी। वहां कल रात महिलाओं ने सड़कों पर निकलकर हाथों में डंडे और झाड़ू लेकर प्रदर्शन किये, हालांकि पुलिस ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि तनाव तब शुरू हुआ जब भाजपा के कुछ स्थानीय समर्थकों ने कुछ स्वयंसेवियों की पिटाई कर दी।

बीजेपी ने लगाया टीएमसी पर ये आरोप

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी और भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने संदेशखाली में प्रदर्शन कर रही महिलाओं के वीडियो साझा किये हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर मतदाताओं को धमकाने के लिए पार्टी के गुंडों और राज्य पुलिस को खुली छूट देने का आरोप लगाया। जादवपुर लोकसभा क्षेत्र के भांगर में आज सुबह मतदान शुरू होते ही एक मतदान केंद्र के सामने तृणमूल कांग्रेस और ऑल इंडिया सेकुलर फ्रंट (एआईएसएफ) के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये, एआईएसएफ की एक महिला कार्यकर्ता के सिर में चोट लगी है। इससे पहले तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के एक समूह ने एआईएसएफ उम्मीदवार नूर आलम खान के वाहन पर हमला किया था।

बंगाल में चुनाव के दौरान पहले भी हो चुकी है हिंसा

इससे पहले भी पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान कई बार हिंसा के मामले सामने आ चुके हैं। चुनावी हिंसा को लेकर अक्सर तृणमूल कांग्रेस विपक्षियों के निशाने पर रही है। पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा ने भी देशभर में सुर्खियां बटोरी थी। तब पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा को लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट ने राज्य चुनाव आयोग को भी फटकार लगाई थी।

आखिरी चरण में 57 सीटों पर मतदान जारी

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में शनिवार सुबह से ही केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ और सात राज्य की 57 सीट पर मतदान चल रहा है। इस चरण में वाराणसी संसदीय क्षेत्र में भी मतदान हो रहा है जहां से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार तीसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं। इस चरण में केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ की एक, पंजाब की सभी 13 और हिमाचल प्रदेश की चार, उत्तर प्रदेश की 13, पश्चिम बंगाल की नौ, बिहार की आठ, ओडिशा की छह और झारखंड की तीन लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है।

Remove term: प.बंगाल में चुनावी हिंसा प.बंगाल में चुनावी हिंसाRemove term: जाधवपुर में देसी बम से किया हमला जाधवपुर में देसी बम से किया हमलाRemove term: EVM तालाब में फेंकी EVM तालाब में फेंकी

ओडिशा की शेष 42 विधानसभा सीट के वास्ते चुनाव और हिमाचल प्रदेश की छह विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव भी इसी के साथ हो रहे हैं। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और लोगों को देश के कई हिस्सों में भीषण गर्मी के बीच सुबह से ही मतदान केंद्रों के बाहर कतारों में खड़े देखा गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का मतदान आरंभ होने पर लोगों से शनिवार को बड़ी संख्या में वोट डालने का अनुरोध किया।

सातवें चरण में इन दिग्गजों की साख दांव पर

चुनाव मैदान में कुल 904 प्रत्याशी मौजूद हैं। इनमें शामिल प्रमुख उम्मीदवारों में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद की बेटी मीसा भारती और अभिनेत्री कंगना रनौत हैं। इस चरण में लगभग 5.24 करोड़ पुरुषों, 4.82 करोड़ महिलाओं और 3,574 ‘ट्रांसजेंडर’ मतदाताओं सहित 10.06 करोड़ से अधिक नागरिक मतदान करने के पात्र हैं।

चार जून को घोषित होंगे चुनाव परिणाम

शनिवार को हो रहे मतदान के साथ ही 19 अप्रैल से शुरू हुई लंबी मतदान प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी। मतगणना चार जून को होगी, अब तक 28 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 486 लोकसभा सीट के लिए मतदान हो चुका है। आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम विधानसभाओं के लिए भी मतदान हुआ, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम विधानसभा चुनावों के लिए मतगणना दो जून को होगी।

 

Related posts