घर में तोता पालना शुभ या अशुभ? जानें क्या कहता है वास्तु

वास्तु शास्त्र, घर में तोता, पालना शुभ, तोते को बुद्धि, ज्ञान और समृद्धि प्रतीक, धर्म, Vastu Shastra, Parrot in the house, keeping it auspicious, Parrot is a symbol of intelligence, knowledge and prosperity, religion,

वास्तु शास्त्र में, तोता एक प्रकार का पक्षी है जिसे कई लोग अपने घर में पालते हैं। कुछ लोग मानते हैं कि तोता को घर में पालने से अच्छा शुभ फल मिलता है, क्योंकि इसे धन की वृद्धि, समृद्धि, और सुख-शांति का प्रतीक माना जाता है। विशेष रूप से हिन्दू धर्म में, कई लोग गणेश भगवान के वाहन के रूप में तोता को पालते हैं और उन्हें शुभ मानते हैं।

हालांकि, कुछ लोगों के अनुसार, तोता को घर में पालना अशुभ हो सकता है। वे मानते हैं कि तोता की चर्चा घर में असामान्य घटनाओं को ले आती है, जैसे की बुरे स्वप्न या बीमारियाँ।

अंततः, यह सब धारणाएँ और मान्यताएं व्यक्ति के धार्मिक और सांस्कृतिक बाग़बानी की ओर प्रवृत्त होती हैं, और यह बदल सकती हैं व्यक्ति से व्यक्ति तक। आपकी धार्मिक और सांस्कृतिक मान्यताओं के आधार पर, आप तोता को घर में पालने की या न करने की फैसला कर सकते हैं।

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में तोता पालना शुभ माना जाता है। तोते को बुद्धि, ज्ञान और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि तोते की आवाज घर में सकारात्मक ऊर्जा लाती है और नकारात्मक ऊर्जा को दूर करती है।

तोते के शुभ प्रभाव:

  • सुख-समृद्धि: तोते को घर में रखने से सुख-समृद्धि आती है और धन-दौलत में वृद्धि होती है।
  • ज्ञान-बुद्धि: तोते को ज्ञान और बुद्धि का प्रतीक माना जाता है।
  • विवादों का निवारण: तोते की बोली से घर में विवाद और कलह कम होते हैं और परिवार में खुशहाली बनी रहती है।
  • नकारात्मक ऊर्जा दूर: तोते की आवाज घर में सकारात्मक ऊर्जा लाती है और नकारात्मक ऊर्जा को दूर करती है।
  • रोगों से बचाव: तोते को रोगों से बचाव का प्रतीक भी माना जाता है।

वास्तु के अनुसार तोता रखने के कुछ नियम:

  • दिशा: तोते का पिंजरा उत्तर-पूर्व या पश्चिम दिशा में रखना चाहिए।
  • रंग: तोते का पिंजरा हरे या पीले रंग का होना चाहिए।
  • स्वच्छता: तोते का पिंजरा हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए।
  • भोजन: तोते को ताजा और साफ पानी तथा फल, सब्जियां और अनाज खिलाना चाहिए।

ध्यान रखने योग्य बातें:

  • तोते को कभी भी जमीन पर न रखें।
  • तोते को किसी भी बीमार व्यक्ति के संपर्क में न आने दें।
  • तोते को बहुत ज्यादा शोर न करें।
  • तोते को पालने से पहले अपनी कुंडली का भी विश्लेषण करवा लेना चाहिए। यदि आपकी कुंडली में तोते का योग नहीं है, तो तोता पालने से आपको नुकसान हो सकता है।
निष्कर्ष:

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में तोता पालना शुभ माना जाता है। तोते को बुद्धि, ज्ञान और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। तोते की आवाज घर में सकारात्मक ऊर्जा लाती है और नकारात्मक ऊर्जा को दूर करती है।

लेकिन, तोते को पालने से पहले अपनी कुंडली का भी विश्लेषण करवा लेना चाहिए और वास्तु के अनुसार कुछ नियमों का पालन करना चाहिए।

Related posts